in

Nizamuddin congregation scare

दिल्ली में मरकज होती है और बहुत सारे मुसलमान उस आयोजन में शामिल होते हैं और नतीजा यह निकलता है कि कोरोनावायरस जो सोशल डिस्टेंसिंग से खत्म किया जा सकता था वह आपस में बहुत ज्यादा फैल जाता है वह अपनी जड़ें इतनी मजबूत जमा लेता है जितनी जड़े इन मुसलमानों की आस्था में भी नहीं की। 

नतीजा जब आयोजन खत्म हुआ और यही अनपढ़ जाहिल मुसलमान जो भारत सरकार के सोशल डिस्टेंसिंग के आग्रह के बावजूद भी पूरे भारत में घूम रहे हैं इस आयोजन में शामिल होने के बाद उन्होंने भारत भर में कोरोना फैलने का रास्ता तय कर दिया है। 

कोई शब्द कोई तरीका जितनी भी मीठी बातें की जाए सच्चाई यह है कि इन लोगों की वजह से आज हिंदुस्तान कोरोनावायरस की एक पृष्ठभूमि के तौर पर उभर सकता है। 

खबर यह भी है कि इन्ही मुसलमानों में कुछ ऐसे भी जीनियस लोग हैं जो अभी भी भारत सरकार के सामने नहीं आना चाहते हैं। यहां पर मैं बता दूं कि आंध्र प्रदेश में यानी तेलंगाना में 6 मौतें हुई हैं और उन सारी मौतों को इस चीज से जोड़कर देखा जा रहा है कि उन्होंने इस मुस्लिम आयोजन में हिस्सा लिया था। तमिलनाडु में 500 से ज्यादा लोग इस आयोजन में आने की वजह से अपने घर में नजरबंद करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं लेकिन बेशर्मी और जाहिल इयत की हद यह है कि किसी को यह भी अंदाजा नहीं है कि वे 500 से ज्यादा लोग हैं कौन भारत सरकार को मुश्किल से 100 या डेढ़ सौ लोगों की लिस्ट पता है। 

पूरे भारत में लोग घूमे हैं इस आयोजन में हिस्सा लेने के बाद इसमें भारतीय ही नहीं विदेशी भी हैं श्रीलंका के लोग भी हैं अफगानिस्तान के लोग भी हैं चाइना के लोग भी हैं इंडोनेशिया के लोग भी हैं अब भगवान ही मालिक है इन लोगों का और उनके साथ साथ भारत की जनता का।

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

Exposed: Ventilator vultures profiteering from Covid-19 crisis

Viral lockdown app Houseparty may be aiding hacks; company denie